Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images -: Hello Dosto, Aaj Mai Aapke Liye Gulzar Sahab Ki Top 50 Shayari Le Kar Aaya hu. Ya Ek Bhot Hi Famous Shayar Hai. Inko Sab Gulzar Ke Naam Se Jante Hai. Inka Pura Naam Sampooran Singh Kalra Hai. Umeed Karta Hu. Ye Shayari Aapke Dil Ko Chu Jayegi. Aapko Is Article Mein Gulzar Shayari Hindi, Gulzar Shayari In Hindi, Gulzar Shayari On Love, Gulzar Shayari Quotes Hindi, Gulzar Shayari Images Inse Related Hindi Shayari Milegi. Agar Aap Isme Interested Hai Toh Aap Mera Article Padh Sakte Hai. Jisme Aapko Gulzar Shayari HindiGulzar Shayari In HindiGulzar Shayari On LoveGulzar Shayari Quotes HindiGulzar Shayari Images Mil Jayegi By Gulzar Sahab. Ise Aap Apne Facebook, Whatsapp Per Bhi Share Kar Sakte Hai. Maine Apne Is Blog Per Motivational ShayariRomantic Shayari, Dard Bhari Shayari, Good Morning Shayari, Or Funny Shayari, Bhi Share Kiya Hai. Agar Aapko Meri Gulzar Shayari In Hindi Pasand Aaye Toh Apne Dosto Ke Saath  Zarur Share Karna.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

शाम से आँख में नमी सी है,
आज फिर आप की कमी सी है।

Shaam Se Aankh Mein Nami Si Hai,
Aaj Phir Aap Ki Kami Si Hai.

♥️ Gulzar Shayari In Hindi ♥️

अपने साए से चौंक जाते हैं,
उम्र गुज़री है इस क़दर तन्हा।

Apne Saye Se Chauk Jaate Hain,
Umar Guzari Hai Is Qadar Tanha.

💙 Gulzar Shayari Hindi 💙

फिर वहीं लौट के जाना होगा,
यार ने कैसी रिहाई दी है।

Phir Wahi Laut Ke Jana Hoga,
Yaar Ne Kaisi Rihai Di Hai.

💛 Gulzar Shayari On Love 💛

राख को भी कुरेद कर देखो, 
अभी जलता हो कोई पल शायद।

Raakh Ko Bhi Kured Kar Dekho,
Abhi Jalta Ho Koi Pal Shaayad.

💚 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💚

कोई ख़ामोश ज़ख़्म लगती है,
ज़िंदगी एक नज़्म लगती है।

Koi Khamosh Zakhm Lagti Hai,
Zindagi Ek Nazm Lagti Hai.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

एक ही ख़्वाब ने सारी रात जगाया है, 
मैंने हर करवट सोने की कोशिश की।

Ek He Khwaab Ne Saari Raat Jagaaya Hai,
Maine Har Karwat Sone Ki Koshish Ki.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

शाम से आँख में नमी सी है,
आज फिर आप की कमी सी है।

Shaam Se Aankh Mein Nami Si Hai,
Aaj Phir Aap Ki Kami Si Hai.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

आदतन तुम ने कर दिए वादे,
आदतन हम ने एतिबार किया।

Aadtan Tum Ne Kar Diya Waade,
Aadtan Ham Ne Etibaar Kiya.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

ज़ख़्म कहते हैं दिल का गहना है,
दर्द दिल का लिबास होता है।

Zakhm Kahte Hain Dil Ka Gahna Hai,
Dard Dil Ka Libaas Hota Hai.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

आइना देख कर तसल्ली हुई,
हम को इस घर में जानता है कोई।

Aaina Dekh Kar Tasalli Hui,
Ham Ko Is Ghar Mein Janta Hai Koi.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

वो उम्र कम कर रहा था मेरी, 
मैं साल अपने बढ़ा रहा था।

Wo Umar Kam Kar Raha Tha Meri,
Main Saal Apne Badha Raha Tha.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

जब भी ये दिल उदास होता है, 
जाने कौन आस-पास होता है।

Jab Bhi Ye Dil Udaas Hota Hai, 
Jaane Kaun Aas-Paas Hota Hai.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

तुम्हारे ख़्वाब से हर शब लिपट के सोते हैं,
सज़ाएँ भेज दो हम ने ख़ताएँ भेजी हैं।

Tumhare Khwaab Se Har Shab Lipat Ke Sote Hain,
Sazaye Bhej Do Ham Ne Khataye Bheji Hain.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

काँच के पार तिरे हाथ नज़र आते हैं,
काश ख़ुशबू की तरह रंग हिना का होता।

Kaanch Ke Paar Tire Haath Nazar Aate Hain,
Kaash Khushbu Ki Tarah Rang Hina Ka Hota.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

वक़्त रहता नहीं कहीं टिक कर, 
आदत इस की भी आदमी सी है।

Waqt Rahta Nahi Kahi Tik Kar,
Aadat Is Ki Bhi Aadmi Si Hai.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में,
एक पुराना ख़त खोला अनजाने में।

Khushbu Jaise Log Mile Afsaane Mein,
Ek Puraana Khat Khola Anjaane Mein.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

गो बरसती नहीं सदा आँखें,
अब्र तो बारा मास होता है।

Go Barasati Nahi Sada Aankhen,
Abr Toh Baara Maas Hota Hai.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

आप ने औरों से कहा सब कुछ,
हम से भी कुछ कभी कहीं कहते।

Aap Ne Auron Se Kaha Sab Kuch,
Ham Se Bhi Kuch Kabhi Kahi Kahte.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई,
जैसे एहसाँ उतारता है कोई। 

Din Kuch Aise Guzaarta Hai Koi,
Jaise Ehasaan Utaarta Hai Koi.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

आँखों के पोछने से लगा आग का पता, 
यूँ चेहरा फेर लेने से छुपता नहीं धुआँ। 

Aankhon Ke Pochhane Se Laga Aag Ka Pata,
Yu Chehra Pher Lene Se Chupta Nahi Dhuaa.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

हाथ छूटें भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते,
वक़्त की शाख़ से लम्हे नहीं तोड़ा करते।

Haath Chute Bhi Toh Rishte Nahi Chhoda Karte,
Waqt Ki Shaakh Se Lamhe Nahi Toda Karte.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

आँखों से आँसुओं के मरासिम पुराने हैं, 
मेहमाँ ये घर में आएँ तो चुभता नहीं धुआँ।

Aankhon Se Aansuon Ke Maraasim Puraane Hain,
Mehamaa Ye Ghar Mein Aaye Toh Chubhata Nahi Dhuaa.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

ख़ामोशी का हासिल भी इक लम्बी सी ख़ामोशी थी, 
उन की बात सुनी भी हम ने अपनी बात सुनाई भी।

Khamoshi Ka Haasil Bhi Ik Lambi Si Khamoshi Thi,
Un Ki Baat Suni Bhi Ham Ne Apni Baat Sunai Bhi.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

ये रोटियाँ हैं ये सिक्के हैं और दाएरे हैं,
ये एक दूजे को दिन भर पकड़ते रहते हैं।

Ye Rotiyaan Hain Ye Sikke Hain Aur Dayre Hain,
Ye Ek Duje Ko Din Bhar Pakadte Rahte Hain.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

आग में क्या क्या जला है शब भर,
कितनी ख़ुश-रंग दिखाई दी है।

Aag Mein Kya Kya Jala Hai Shab Bhar, 
Kitni Khush-Rang Dikhai Di Hai.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

आप के बाद हर घड़ी हम ने,
आप के साथ ही गुज़ारी है।

Aap Ke Baad Har Ghadi Ham Ne,
Aap Ke Saath He Guzaari Hai.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

कभी तो चौंक के देखे कोई हमारी तरफ़,
किसी की आँख में हम को भी इंतिज़ार दिखे।

Kabhi Toh Chauk Ke Dekhe Koi Hamaari Taraf,
Kisi Ki Aankh Mein Ham Ko Bhi Intizaar Dikhe.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

चूल्हे नहीं जलाए कि बस्ती ही जल गई,
कुछ रोज़ हो गए हैं अब उठता नहीं धुआँ।

Chulhe Nahi Jalaye Ki Basti Hi Jal Gai,
Kuch Roz Ho Gai Hain Ab Uthta Nahi Dhuaa.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

वो एक दिन एक अजनबी को,
मेरी कहानी सुना रहा था। 

Wo Ek Din Ek Ajnabi Ko,
Meri Kahaani Suna Raha Tha.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

यादों की बौछारों से जब पलकें भीगने लगती हैं,
सोंधी सोंधी लगती है तब माज़ी की रुस्वाई भी।

Yaadon Ki Baucharon Se Jab Palake Bhigne Lagti Hain, 
Sondhi Sondhi Lagti Hai Tab Maazi Ki Ruswai Bhi.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

हम ने अक्सर तुम्हारी राहों में, 
रुक कर अपना ही इंतिज़ार किया।

Ham Ne Aksar Tumhari Raahon Mein,
Ruk Kar Apna Hi Intizaar Kiya.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

उसी का ईमान बदल गया है,
कभी जो मेरा ख़ुदा रहा था।

Usi Ka Eemaan Badal Gaya Hai,
Kabhi Jo Mera Khuda Raha Tha.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

चंद उम्मीदें निचोड़ी थीं तो आहें टपकीं,
दिल को पिघलाएँ तो हो सकता है साँसें निकलें।

Chand Ummeeden Nichodi Thi Toh Aahen Tapki,
Dil Ko Pighlaye Toh Ho Sakta Hai Saansen Nikalen.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

रात गुज़रते शायद थोड़ा वक़्त लगे,
धूप उन्डेलो थोड़ी सी पैमाने में।

Raat Guzarate Shaayad Thoda Waqt Lage,
Dhoop Undelo Thodi Si Paimaane Mein.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

भरे हैं रात के रेज़े कुछ ऐसे आँखों में,
उजाला हो तो हम आँखें झपकते रहते हैं। 

Bhare Hain Raat Ke Reze Kuch Aise Aankhon Mein,
Ujaala Ho Toh Ham Aankhen Jhapakte Rahte Hain.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

कितनी लम्बी ख़ामोशी से गुज़रा हूँ,
उन से कितना कुछ कहने की कोशिश की।

Kitni Lambi Khamoshi Se Guzara Hoon,
Un Se Kitna Kuch Kahne Ki Koshish Ki.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

ये शुक्र है कि मेरे पास तेरा ग़म तो रहा,
वरना ज़िंदगी भर को रुला दिया होता।

Ye Shukr Hai Ki Mere Paas Tera Gam Toh Raha,
Warna Zindagi Bhar Ko Rula Diya Hota.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

मैं चुप कराता हूँ हर शब उमडती बारिश को,
मगर ये रोज़ गई बात छेड़ देती है।

Main Chup Karaata Hoon Har Shab Umadati Baarish Ko, 
Magar Ye Roz Gai Baat Chhed Deti Hai.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

जिस की आँखों में कटी थीं सदियाँ,
उस ने सदियों की जुदाई दी है।

Jis Ki Aankhon Mein Kati Thi Sadiyaan,
Us Ne Sadiyon Ki Judai Di Hai.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

ये दिल भी दोस्त ज़मीं की तरह,
हो जाता है डाँवा-डोल कभी।

Ye Dil Bhi Dost Zameen Ki Tarah 
Ho Jata Hai Daanwa-Dol Kabhi.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

कल का हर वाक़िआ तुम्हारा था,
आज की दास्ताँ हमारी है।

Kal Ka Har Waaqia Tumhara Tha,
Aaj Ki Daastaan Hamaari Hai.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

रुके रुके से क़दम रुक के बार बार चले,
क़रार दे के तिरे दर से बे-क़रार चले।

Ruke Ruke Se Qadam Ruk Ke Baar Baar Chale,
Qaraar De Ke Tire Dar Se Be-Qaraar Chale.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

दिल पर दस्तक देने कौन आ निकला है,
किसकी आहट सुनता हूँ वीराने में।

Dil Par Dastak Dene Kaun Aa Nikala Hai,
Kiski Aahat Sunta Hoon veeraane Mein.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

यूँ भी इक बार तो होता कि समुंदर बहता,
कोई एहसास तो दरिया की अना का होता।

Yu Bhi Ik Baar To Hota Ki Samundar Bahata,
Koi Ehasaas Toh Dariya Ki Ana Ka Hota.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

अपने माज़ी की जुस्तुजू में बहार,
पीले पत्ते तलाश करती है।

Apne Maazi Ki Justujoo Mein Bahaar,
Peele Patte Talaash Karti Hai.

Gulzar Shayari In Hindi | Quotes, Images | गुलज़ार शायरी इन हिंदी।

♥️ Gulzar Shayari Images ♥️

देर से गूँजते हैं सन्नाटे,
जैसे हम को पुकारता है कोई।

Der Se Goongte Hain Sannate,
Jaise Ham Ko Pukaarta Hai Koi.

💙 Gulzar Shayari In Hindi 💙

एक सन्नाटा दबे-पाँव गया हो जैसे,
दिल से इक ख़ौफ़ सा गुज़रा है बिछड़ जाने का।

Ek Sannata Dabe-Paanv Gaya Ho Jaise,
Dil Se Ik Khauf Sa Guzara Hai Bichhad Jane Ka.

💛 Gulzar Shayari Hindi 💛

सहमा सहमा डरा सा रहता है, 
जाने क्यूँ जी भरा सा रहता है।

Sahma Sahma Dara Sa Rahta Hai, 
Jaane Kyu Ji Bhara Sa Rahta Hai.

💚 Gulzar Shayari On Love 💚

बस इतना बता दो इंतज़ार करू,
या बदल जाऊ तुम्हारी तरह।

Bas Itna Bata Do Intazaar Karu,
Ya Badal Jau Tumhaari Tarah.

💜 Gulzar Shayari Quotes Hindi 💜

कुछ दिन और सही जनाब मगर,
जब मिलेंगे तो मुलाक़ात यादगार होगी।

Kuch Din Aur Sahi Janaab Magar,
Jab Milenge Toh Mulaqaat Yaadgaar Hogi.

इसे भी पढ़े

Gulzar Sahab Famous 3 Ghazal In Hindi

♥️ दर्द हल्का है साँस भारी है ♥️

दर्द हल्का है साँस भारी है
जिए जाने की रस्म जारी है।

आप के ब'अद हर घड़ी हम ने
आप के साथ ही गुज़ारी है।

रात को चाँदनी तो ओढ़ा दो
दिन की चादर अभी उतारी है।

शाख़ पर कोई क़हक़हा तो खिले
कैसी चुप सी चमन पे तारी है।

कल का हर वाक़िआ तुम्हारा था
आज की दास्ताँ हमारी है।

💙 दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई 💙

दिन कुछ ऐसे गुज़ारता है कोई
जैसे एहसाँ उतारता है कोई

दिल में कुछ यूँ सँभालता हूँ ग़म
जैसे ज़ेवर सँभालता है कोई

आइना देख कर तसल्ली हुई
हम को इस घर में जानता है कोई

पेड़ पर पक गया है फल शायद
फिर से पत्थर उछालता है कोई

देर से गूँजते हैं सन्नाटे
जैसे हम को पुकारता है कोई

💛 कोई ख़ामोश ज़ख़्म लगती है 💛

कोई ख़ामोश ज़ख़्म लगती है
ज़िंदगी एक नज़्म लगती है।

बज़्म-ए-याराँ में रहता हूँ तन्हा
और तंहाई बज़्म लगती है।

अपने साए पे पाँव रखता हूँ
छाँव छालों को नर्म लगती है।

चाँद की नब्ज़ देखना उठ कर
रात की साँस गर्म लगती है।

ये रिवायत कि दर्द महके रहें 
दिल की देरीना रस्म लगती है।

Post a Comment

0 Comments